विचार क्रान्ति का नया जीवन दर्शन - युग निर्माण सत्संकल्प

विचारों को चेतन शक्ति कहा गया है। मनुष्य के विचार ही उसके कर्म में परिणत होते है। विचार शक्ति के कारण ही मनुष्य को सर्वश्रेष्ठ प्राणी होने का गौरव प्राप्त है। अपनी इसी शक्ति का उपयोग करके वह संसार के जटिल से जटिल कार्य को संभव बना सका है। श्रेष्ठ विचार सौभाग्य का द्वार है, निकृश्ट विचार दुर्भाग्य का...
Full description

Saved in:
Author:

Rakesh Varma [VerfasserIn]

Format:

Electronic Article

Language:

English ; Hindi

Published:

2016

Subjects:

Yug Nirman Sat Sankalpa

Life's Philosophy

Shriram Sharma

Vichar Kranti

Containing Work:

In: Dev Sanskriti: Interdisciplinary International Journal - Dr. Chinmay Pandya, 2021, 8(2016)

Containing Work:

volume:8 ; year:2016

Links:

https://doi.org/10.36018/dsiij.v8i0.89 [kostenfrei]

https://doaj.org/article/1fcbf8e67cbf409c9872aeda4292a2e5 [kostenfrei]

http://dsiij.dsvv.ac.in/index.php/dsiij/article/view/89 [kostenfrei]

Journal toc [kostenfrei]

Journal toc [kostenfrei]

DOI / URN:

10.36018/dsiij.v8i0.89

Catalog id:

DOAJ078394562

Haven't found what you're looking for?

Contact us!